Tuesday, November 10, 2009

साक्षरता

लड़का पढ़ रहे, लड़की पढ़ रही
पढ़ रहे कक्का भइया
हम सबको है साक्षर होने
तभी चलेगी नैया
शासन हमको खूब पढ़ा रही
लाभ भी हमको खूब पहुँचा रही
किताबें, कापी, पेन, पेंसिल
मुफ्त में मिल रहे भइया
पढ़ लो कक्का भइया
बच्चों को पढाएं, लिखायें
और होशियार बनाएं
जिससे वो अपनों उज्जवल
भविष्य बनाएं
अब तो वो तैयार हो गयी
बा रमुआ की मैया
पढ़ लो कक्का भइया

भारत विजय बगेरिया

No comments:

Post a Comment