Thursday, December 31, 2009

किसान

मेरा देश महान है
यह भारत का किसान है
खेत की तपती दुपहेरी में
करता निस दिन काम है
इसे कहाँ विश्राम है
मेरा देश महान है
अपनी मेहनत के बल पर
मिट्टी से सोना उपजाता
इसे कहाँ आराम है
यह भारत का किसान है
इसे गर्मी न सर्दी लगती
निष्काम भाव से करता अपना काम है
मातृभूमि की सेवा में अर्पित जीवन
इसे कहाँ विराम है
यह भारत का किसान है

भारत विजय बगैरिया
mob. 09893088467


No comments:

Post a Comment