Thursday, April 9, 2015

हाथ में मीर का दीवान लिया

हाथ में मीर का दीवान लिया
शायरी क्या है तुमने जान लिया

हलीम राना 

No comments:

Post a Comment